एम्फोटेरिसिन : किडनी को खतरा तो है, लेकिन ब्लैक फंगस को जड़ से समाप्त करने का फिलहाल एकमात्र विकल्प

  ब्लैक फंगस (सांकेतिक तस्वीर) – फोटो : istock अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान (एम्स) के निदेशक प्रो. रविकांत का कहना है कि एम्फोटेरिसिन बी के प्लेन इंजेक्शन के इस्तेमाल के दौरान एक्यूट किडनी इंजरी (एकेआई) खतरा बना रहता है, लेकिन चिकित्सक की सबसे पहली प्राथमिकता मरीज की जान को बचाना होता है। उत्तराखंड: देहरादून जिले…

अधिक पढ़ें

उत्तराखंड : 18 से 44 साल तक की उम्र के लोगों के लिए टीका खत्म, अब नहीं हो पाएगा टीकाकरण

  कोरोना का टीकाकरण  देहरादून जिले में 18 साल से 44 साल तक की उम्र के लोगों को लगने वाले टीके खत्म हो चुके हैं। इससे आमजन बहुत परेशान हैं। हालत यह है कि कभी 23 केंद्रों तक में हर रोज लगने वाली यह डोज शुक्रवार (आज) को अब सिर्फ मसूरी के टीकाकरण केंद्र पर…

अधिक पढ़ें

ब्लैक फंगस: एक मरीज को 150 इंजेक्शनों की जरूरत, 25 दिन तक रोजाना लगाए जाते हैं छह इंजेक्शन

ब्लैक फंगस  ब्लैक फंगस के एक मरीज के इलाज के लिए 125 लिपोसोमल एम्फोटेरिसिन बी इंजेक्शन की जरूरत पड़ती है। मरीज को 25 दिन तक रोजाना छह इंजेक्शन दिए जाते हैं। अगर निर्धारित मात्रा में इंजेक्शन की डोज नहीं दी जाती तो उसका रिकवरी का समय भी बढ़ जाता है। वहीं ब्लैक फंगस के ऑपरेशन…

अधिक पढ़ें

उत्तराखंड: प्रदेश में ब्लैक फंगस से एक और मौत, एम्स में चार नए केस मिले

शव – फोटो : प्रतीकात्मक तस्वीर अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान (एम्स) ऋषिकेश में ब्लैक फंगस से अल्मोड़ा निवासी 69 वर्षीय बुजुर्ग की मौत हो गई। वहीं संस्थान में ब्लैक फंगस के चार नए केस मिले हैं। उत्तराखंड में ब्लैक फंगस जानलेवा होता जा रहा है। ब्लैक फंगस से प्रदेश में मौत का सिलसिला थम नहीं…

अधिक पढ़ें

ब्लैक फंगस: कोविड को मात देने वालों की आंखों की रोशनी छीन रहा ये नया दुश्मन

ब्लैक फंगस  कोविड संक्रमण को मात देने वालों के लिए अब एक नया दुश्मन पैदा हो गया है। काला फंगस (म्यूकरमाइकोसिस) स्वस्थ हो चुके कोविड संक्रमितों की आंखों की रोशनी छीन रहा है। यही नहीं ब्लैक फंगस आंखों के साथ त्चचा, नाक, दांतों को भी नुकसान पहुंचाता हैं। नाक के जरिए फेफड़ों और मस्तिष्क में…

अधिक पढ़ें